Top1 india news

No. 1 News Portal of India

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कोविड-19 रोकथाम हेतु बैठक हूई सम्पन्न

1 min read

ब्यूरो रिपोर्ट नफीस अहमद खान

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी  कुमार हर्ष  , मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एपी भार्गव, , अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ मुकेश मातनहेलिया, डी पी आर ओ किरन , सहित सम्बंधित अधिकारीगण मौजूद रहें

श्रावस्ती 14 सितम्बर 2020

प्रदेश के मुख्य सचिव  महोदय द्वारा कोविड-19 के रोकथाम हेतु दिए गए आदेशो का सभी सम्बंधित विभागीय अधिकारी अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित समय से सुनिश्चित करे,ताकि कोरोना के संक्रमित मरीज किसी भी दशा में बढ़ने न पावे,और जनपद को कोरोना बीमारी से  मुक्ति मिल सके। उक्त निर्देश कलेक्ट्रेट सभागार में प्रातः 09ः00 बजेे कोविड-19 रोकथाम से सम्बंधित अधिकारियों के साथ बैठक करने के दौरान जिलाधिकारी टी0के0शिबु ने दिया है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि इस बीमारी से लोगो को बचाने हेतु अभी भी लोगो को और जागरूक करने की आवश्यकता है, जो जन सहयोग से लोगो को किया जा सकता है, इस बीमारी से बचाव हेतु सोशल डिस्टेंसिग अपनाकर और अनिवार्य रूप से मास्क लगाकर इस बीमारी से बचा जा सकता है। इसके लिए लोग आगे आवे, वे खुद सोशल डिस्टेंसिग अपनाए, मास्क लगाए तथा अपने आस-पड़ोस लोगो को भी इसका इस्तेमाल हेतु प्रेरित करे।  जिलाधिकारी ने कहा कि आज हम सभी कोविड-19 के संकट से पीड़ित हैं और बिना जन सहयोग से इस रोग पर विजय नहीं प्राप्त की जा सकती है। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि जिन क्षेत्रों/गाँवो/कस्बो/बाजारों /मुहल्लों में जंहा पर संक्रमितों की संख्या अधिक है उन क्षेत्रों में शत प्रतिशत सैम्पलिंग करायी जाय।कोविड एल -1अस्पताल में भर्ती मरीजों को  प्रोटोकॉल के मुताबिक सभी सुविधाएं देने के साथ ही गुणवत्ता पूर्ण ढंग से उन्हें प्रत्येक दशा में भोजन मुहैया कराया जाय। यदि औचक निरीक्षण के दौरान कोई कमी मिली तो निश्चित ही जिम्मेदारों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
होम आइशोलेशन देने के दौरान आर आर टी टीम द्वारा यह देखा जाय कि पहले से ही उस घर मे कोई अन्य व्यक्ति गम्भीर रोग से ग्रसित तो नही है यदि है तो होम आई सुलेशन न दिया जाय।होम आइशोलेशन वाले मरीजों को प्रतिदिन कन्ट्रोल रूम से फोन कर उनका कुशल क्षेंम लिया जाय, फोन करने के दौरान जिन लोगों से सम्पर्क नही हो पाता है उनकी सूची बनाकर सम्बन्धित सी0एच0सी0 के प्रभारी चिकित्साधिकारी/आर0 आर0टी0 टीम को अवगत कराया जाय ताकि होम आइशोलेशन व्यक्तियों से उनके घर जाकर कुशलक्षेम लेने के साथ ही उकना अपडेट मोबाइल भी कर सकें, जो पॉजिटिव व्यकित  पाए गए है उनके कॉन्टैक्ट की आर टी सी पी आर जाँच कराई जाये। जिले ऐसे व्यक्ति जो पूर्व से ही किसी बिमारी से ग्रस्त है और सैम्पलिंग के दौरान पाॅजिटिव पाये जाते है तो संबंधित क्षेत्र के सीएचसी अधीक्षक उन्हें प्रत्येक दशा में एल-1 अस्पताल भंगहा में भेजना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान अस्पताल में उपलब्ध दवाओं, मास्क, सेनिटाइजर, एन्टीजेन किट के उपलब्धता की भी समीक्षा की।जिन क्षेत्रों में अधिक संक्रमित व्यक्ति निकले है उनकी सूची बनाकर उन क्षेत्रों में सैम्पलिंग शत प्रतिशत कराया जाय।टेस्टिंग किट की उपलब्धता की सी0एम0ओ0 व्यापक निगरानी रखें। और प्रत्येक दशा में टेस्टिंग किट की उपलब्धता सुनिश्चित रखें। जिलाधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग व अन्य  विभागों  के सहयोग से जनपद में नोबेल कोरोना वायरस के प्रभाव को रोकने हेत निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। जनपद स्तर पर जिलाधिकारी कार्यालय कलेक्ट्रेट में इंटीग्रेटेड कोविड-19 कंट्रोल रुम एवं कमांड सेंटर, श्रावस्ती की स्थापना की गई है। जनपदवासियों द्वारा इस रोग के लक्षण खांसी गले में खराश, बुखार, सांस लेने में तकलीफ अथवा कोविड-19 रोगी से निकट संपर्क होने की दशा में तत्काल सर्विलांस टीम निकटवर्ती सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तथा जनपद स्तरीय स्थापित इंटीग्रेटेड कोविड कंट्रोल एवं कमान सेंटर श्रावस्ती  9454417486, 9454417485, 9044047486, 9044287486 पर अवगत कराया जा सकता है। इंटीग्रेटेड कोविड-19 कंट्रोल एवं कमांड सेंटर श्रावस्ती द्वारा दूरभाष के माध्यम से होम आइसोलेशन में गए प्रत्येक व्यक्तियों से नियमित रूप से संवाद करते हुए उनके स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त की जा रही है। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया 13 सितम्बर, 2020 तक जनपद श्रावस्ती में आरटी पीसीआर द्वारा कुल 26490 एन्टी जेन टेस्ट कीट द्वारा कुल 27658 तथा  ट्रूनाट मशीन द्वारा कुल 791 जांचें कराई जा चुकी हैं। जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अथक प्रयासों से ही जनपद में मात्र 813 पॉजिटिव केस प्रकाश में आए हैं। कोविड-19 पॉजिटिव रोगियों हेतु कोविड-19 समर्पित चिकित्सालय भंगहा में संचालित है जहां पर भर्ती मरीजों को समय से नाश्ता भोजन व दवाएं उपलब्ध कराई जा रही है। स्वास्थ्य लाभ के उपरांत रिकवर्ड होने वाले रोगियों द्वारा दिए जाने वाले फीडबैक में उपलब्ध कराई जा रही सेवाओं के प्रति अच्छा फीडबैक दिया जा रहा है।उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में 397 तथा नगरीय क्षेत्रों में 37 निगरानी समितियां द्वारा घर घर जाकर सर्वे किया जा रहा है, अब तक जिले में 813 पॉजिटिव केस प्रकाश में आये है, जिनके सापेक्ष 7134 लोगो को कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की गई है। जिले में कुल 813 कोविड-19 पॉजिटिव रोगियों में स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़कर 533 हो गई है। कोविड-19 समर्पित चिकित्सालय भगंहा में वर्तमान समय में 15 मरीज भर्ती है।

TOP1 INDIA NEWS CHANNEL

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 7080822042
Translate »