September 25, 2021

Top1 india news

No. 1 News Portal of India

मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में नशा  मुक्त भारत अभियान योजना की बैठक संपन्न

1 min read

ब्यूरो रिपोर्ट मो0 आसिफ खान

श्रावस्ती 06 नवंबर 2020

मुख्य विकास अधिकारी ईशान प्रताप सिंह  की अध्यक्षता विकास भवन सभागार में नशा मुक्ति अभियान की बैठक की गई। उन्होंने बताया कि श्रावस्ती जिले में नशे के विरूद्ध अभियान जारी है तथा इस जिले को नशा मुक्त करने के लिये और गति से कार्य करने की आवश्यकता है।
मुख्य विकास अधिकारी ने नशामुक्त भारत अभियान के तहत गठित जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक में आवश्यक निर्देश दिये है। उन्होंने अधिकारियों से आह्वान किया कि नशा मुक्त भारत अभियान में एक टीम के रूप में युद्ध स्तर पर अभियान चलाना है। जिसे नये तरीके से जन-जन तक पहुंचाकर इस बुराई को खत्म किया जाए, नशा मुक्त भारत अभियान में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, महिला बाल विकास, पुलिस विभाग, नेहरू युवा केन्द्र, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, शिक्षा विभाग तथा स्काउट गाईड को जो उतरदायित्व दिये गये है, उनकी अक्षरशः पालन सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि राजकीय विभागों के अलावा नशा मुक्त भारत अभियान में सामाजिक संस्थाओं का भी सहयोग लिया जाये, जिससे इस बुराई को जड़ से खत्म किया जा सके। राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रम, राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण के माध्यम से अभियान को आगे बढ़ाना है, नशा करने वाले नागरिकों को शिविर लगाकर मुख्य धारा में जोड़ने का कार्य करेगी।
बैठक मे  जिला आबकारी अधिकारी द्वारा जनपद के कुछ संदिग्ध स्थानो तथा व्यक्तियों की सूची बैठक में उपलब्ध करायी गयी । जिसके क्रम में मुख्य विकास अधिकारी ने महिला थाना के प्रतिनिधि को संदिग्ध स्थानों तथा व्याक्तियों की सूची उपलब्ध कराते हुए निर्देष दिए और संबंधित थानो से इस बारे में प्रभावी कार्यवाही कराना सुनिष्चित करे और इन संदिग्ध या अन्य ऐसे लोग जो अबैध षराब बनाते है उनके बारे में जो कार्यवाही की गयी है और कार्यवाही की जा रही है। उसका विवरण दो सप्ताह में उपलब्ध कराने निर्देष दिए। प्रभावित क्षेत्रों की महिलाओं जिनके पुर्नःवास,कल्याणकारी योजनाएं, आधार कार्ड आदि बनाए जाने की आवष्यकता हो तो विवरण उपलब्ध कराना सुनिष्चित करें।
अल्कोहिजम तथा ओ0पी0 8 से ग्रसित  व्यक्तियों की बिना नाम सार्वजनिक किए चिन्हांकन करने का कार्य अत्याधिक आवष्यक है। बैठक में उपस्थित सभी स्वयंसेवी संस्थाओं/नेहरू युवा केन्द्र/जिला युवा कल्याण अधिकारी को निर्देष दिए गए कि वह तत्काल सर्वेक्षण व चिन्हांकन का कार्य पूर्ण करना सुनिष्चित करंे तथा सर्वेक्षण व चिन्हांकन व्यक्तियों का विवरण गोपनीय रूप से जिला समाज कल्याण अधिकारी को 10 दिवस में उपलब्ध कराना सुनिष्चित करें। इस कार्य में में जिला अस्पाताल के परार्मष दाता भी मदद करेगंे।

मुख्य विकास अधिकारी ने नषा प्रभावित क्षेत्रों में प्राथमिक विद्यालयों में जिला बेसिक षिक्षा अधिकारी द्वारा विषेश ध्यान दिया जाये और आबकारी विभाग द्वारा उपलब्ध कराया गया विवरण उनके प्रतिनिधि को दिया गया है इसके अतिरिक्त नट समाज तथा थारू समाज के प्राथमिक विद्यालयों में भी प्रभावी कार्यवाही करना सुनिष्चित करें तथा इन विद्यालयो में क्यूज आदि प्रतियोगिताएं कराए और विजेताओं को पुरस्कार दिलवाना सुनिष्चित करें। इस हेतु मिषन षक्ति तथा नषा मुक्त भारत अभियान से सहायता ली जाए। अलक्षेन्द्र इण्टर कालेज भिनगा में बाल संसद आयोजित कराए तथा क्यूज आदि प्रतियोगिताए कराए और विजेताओं को पुरस्कार दिलवाना सुनिष्चित करें। इस हेतु मिषन षक्ति तथा नषा मुक्त भारत अभियान से सहायता ली जाए।
जिला बेसिक षिक्षा अधिकारी/जिला विद्यालय निरीक्षक/समस्त षिक्षण संस्थान/ समस्त डिग्री कालेज को निर्देषित किया नशा मुक्त भारत अभियान को कोरोनाकाल के दौरान थोड़ी सावधानी के साथ नियमों व गाईडलाईन की पालन करते हुए चलाया जायेगा तथा सामाजिक दूरी की पालन करते हुए शिविर लगाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि नशा मुक्त भारत अभियान की जागरूकता के लिये सामुदाय के साथ-साथ सोशल मीडिया के माध्यम से व्यापक प्रचार किया जाये। नशा मुक्त अभियान में विभिन्न विभागों की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थाओं के 100 मीटर दूरी तक तम्बाकू की ब्रिक्री न हो, कही पर ऐसा हो रहा है, इसकी सूचना शिक्षा विभाग के माध्यम से आनी चाहिए। उन्होंने कहा कि तम्बाकू, मदिरा, गुटका आदि इस क्षेत्र में नशें का एक बड़ा कारण है। इसके लिए सभी ग्राम पंचायतों में प्रधानो के माध्यम से नशा मुक्ति अभियान प्रचार-प्रसार किया जाए और एन0जी0ओ0 के माध्यम से लोगों को जागरुक किया जाए। जिससे की जनपद को नशा मुक्ति किया जा सकें।

उन्हाने मुख्यचिकित्साधिकारी को निर्देष दिये कि ए0टी0एफ0 की स्थापना करके एक सप्ताह में अवगत कराए।सभी उपस्थित प्रतिनिधियों से सोषल मीडिया अभियान हेतु कन्टेट एक सप्ताह में उपलब्ध कराने हेतु निर्देषित किया और टैगलाइन से सुझाव मांगा जाय।
मुख्य विकास अधिकारी जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देषित किया गया कि विभिन्न बुनियादी दस्तावेजो (आधार, राषन कार्ड आदि) लेकर कल्याणकाकरी और रोजगारपरक योजनाओं  का अध्ययन कर ले और चिन्हित लोगो के लिए एक प्रारूप  निर्धारित करके नषा मुक्त भारत अभियान से लेकर पुर्नःवास तक के सभी विन्दु सम्मिलित रहेगें।

बैठक में समाज कल्याण अधिकारी राकेश रमन, जिला प्रोबेशन अधिकारी चमन सिंह, प्राचार्य अलक्षेन्द्र इण्टर कालेज ज्योति प्रकाश पाण्डेय,जिला अस्पताल के परामर्शदाता जितेन्द्र मिश्रा,महिला थाना प्रभारी के0के0 यादव,यूनीसेफ की जिला समन्वयक रिजवाना परिवीन, एन0जी0ओ0 गुलिस्ता फाउण्डेशन गुलशन जहां उपस्थित रहें।
Top1 india news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 7080822042
Translate »