September 23, 2021

Top1 india news

No. 1 News Portal of India

ईट भट्ठा संचालकों के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक हुई संपन्न

1 min read

ब्यूरो रिपोर्ट मो आसिफ खान

श्रावस्ती 20 नवम्बर 2020 राजस्व वसूली से ही सरकार द्वारा अनेक जान कल्याणकारी योजनाओं का संचालन किया जाता है इसलिए जिले के संबंधित ईट भट्ठा संचालक जो अभी तक रॉयल्टी नही जमा किये है वे माह के आखिरी तक जमा कराना सुनिश्चित करे ।संज्ञान में आया है कि कुछ ऐसे भट्टा संचालक है जो बिना प्रदूषण नियंत्रण विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र लिए बिना संचालन किया जा रहा है जो नियम के विपरीत है यदि एक सप्ताह के अंदर भट्ठा संचालक द्वारा संबंधित विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेकर संचालन नही किया गया तो निश्चित ही ऐसे भट्ठों को सूची बद्ध कर उनके संचालन पर रोक लगा दी जाएगी।जिलाधिकारी ने भट्ठा संचालकों से कहा कि उनके भट्ठे पर काम करने वाले मजदूर चाहे वो इस जनपद के हो या कही अन्य प्रान्त से आये हो को अपने परिवार के तरह ही भट्ठों पर सभी आवश्यक सुविधाएं दी जाय यँहा तक की उनका समय समय पर स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाय और स्वास्थ परीक्षण के दौरान यदि कोई भी मजदूर अस्वस्थ मिलता है तो उनके इलाज की समुचित व्यवस्था के साथ साथ उनके बच्चो को भी शिक्षा से जोड़ने के लिए प्रयास किये जाय ताकि भट्ठों पर काम करने वाले मजदूरों के बच्चे भी पढ़ लिख सके। और भट्ठा पर मजदूरी करने वाली महिलाए जो भट्ठा पर आशियाना बना कर रह रही है उनको सुरक्षा के मद्देनजर उनके आशियाने एवं उनके आस पास समुचित प्रकाश का प्रबंध किया जाय ताकि उन्हें कोई दिक्कत न हो।इसके साथ ही भट्ठों पर काम करने वाली महिलाओं की सूची भी बनाकर सम्बन्धित थानों को भी सुरक्षा के मद्देनजर दी जाय।ताकि सरकार द्वारा संचालित मिशन शक्ति योजना से उन्हें जोड़ा जा सके।और उनके बीच जाकर उन्हें महिला सशक्तिकरण के सम्बन्ध में जागरूक किया जा सके। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक अरविन्द कुमार मौर्या ने कहा कि जो महिला मजदूर ईट भट्ठों पर काम करती है उनके सुरक्षा की जिम्मेदारी भट्ठा संचालको की है इसलिए उन्हें अपने परिवार की तरह ही सुरक्षा प्रदान करे।जिले में मिशन शक्ति कार्यक्रम चल रहा है ,महिलाओं/बालिकाओं को जागरूक किया जा रहा है उनके अधिकारों के बारे में उन्हें बताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि महिलाओं/बालिकाओं की सुरक्षा और सम्मान हेतु सरकार प्रतिबद्ध है इसलिए महिलाओं और बालिकाओं से अब किसी भी तरह का अपमान बर्दाश्त नही किया जाएगा।यदि महिला अपमान की जिले में किसी भी स्थान से शिकायत मिली तो निश्चित ही सम्बन्धित व्यक्ति के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।उन्होंने यह भी कहा कि बालश्रम प्रतिबंधित है इसलिए किसी भी दशा में भट्ठा संचालक बाल मजदूरों से मजदूरी कदापि न कराए ।तथा सुरक्षा के दृष्टिकोण से भट्ठा में प्रयुक्त वाहनों में रिफ्लेक्टर अवश्य लगवाए जिससे दुर्घटना से बचा जा सके ।
बैठक का संचालन खनन निरीक्षक चंद्र प्रकाश जयसवाल ने किया। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी योगानंद पांडे अपर पुलिस अधीक्षक बीसी दुबे उप जिला अधिकारी आर.पी.चैधरी निरीक्षक स्थानीय अभिसूचना इकाई राकेश कुमार चंद सभी थानाध्यक्षगण, ईट भट्ठा यूनियन के अध्यक्ष ,भट्ठा संचालक राजेश शुक्ला सहित अन्य भट्ठा संचालकगण उपस्थित रहे।
Top1 india news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 7080822042
Translate »