October 21, 2021

Top1 india news

No. 1 News Portal of India

प्रभारी मंत्री श्रीराम चौहान ने साढ़े चार साल होने पर गिनवाई सरकार की उपलब्धिया

1 min read

रिपोर्ट – सद्दाम हुसैन ब्यूरो देवरिया

देवरिया: (उ0प्र0) देवरिया जिले मे प्रदेश सरकार के साढे चार वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर विकास भवन के गांधी सभागार में जनपद के प्रभारी, उद्यान राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीराम चौहान ने पत्रकार वार्ता में कहा है कि जनता की हित के लिए यह सरकार पूरी प्रतिबद्ध व कटिबद्ध रहते हुए चौमुखी व सर्वाग्रीण विकास का कार्य की है, जो स्वर्णाक्षरों में लिखें जाने योग्य है। उन्होने कहा कि समाज के सभी वर्गो के उत्थान, विकास एवं उनके आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए अनेक योजनाओं को संचालित करते हुए उसे क्रियान्वित करने की कार्य की है, जिससे कि आमजन के जीवन स्तर में सुधार हो।
प्रभारी मंत्री ने विशेष व महत्वपूर्ण उपलब्धियों को योजनावार गिनाते हुए कहा कि देश में कई योजनाओं में यह राज्य प्रथम स्थान हासिल किया है। जैसे कि इंडिया स्मार्ट अवार्ड 2020 में यूपी को प्रथम पुरस्कार, प्रधानमंत्री आवास योजना में प्रथम स्थान, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योगो की स्थापना में अग्रणी, स्वच्छ भारत मिशन में शौचालय निर्माण में प्रथम, पीएम किसान सम्मान निधि योजना लागू करने में प्रथम, पीएम स्वनिधि योजना में 8 लाख 80 हजार स्ट्रीट वेन्डरर्स लाभान्वित किए गए, 39.42 करोड की रिकार्ड पौधरोपण, सौभाग्य योजना में विद्युत कनेक्शन देने में प्रथम, गन्ना, चीनी, गेहूॅ, आलू, हरी मटर, आम, आंवला, दूग्ध उत्पादन में यह प्रदेश देश में प्रथम स्थान हासिल करने में कीर्तिमान स्थापित किया है। यह प्रदेश देश में दूसरी बडी अर्थव्यवस्था प्रति व्यक्ति आय हुई दोगुनी, इज ऑफ डूईंग विजनेस रैकिंग में देश में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। नौकरी एवं रोजगार सृजन को सर्वोच्च प्राथमिकता देने का कार्य की है। बेरोजगारी की दर जो वर्ष 2017 में 17.5 प्रतिशत थी, वह मार्च 2021 में घट कर 4.1 प्रतिशत रह गयी है।

खेल एवं खिलाडियों को प्रोत्साहनः

यह सरकार युवा, खिलाडियों के मनोबल को सदैव ऊंचा बनाए रखने के लिए संकल्पबद्ध तरीके से कार्य की है। अभी वर्ततान में टोक्यो ऑलम्पिक में पदक जीत कर देश का मान बढाने वाले खिलाडियों को सम्मान स्वरुप कुल 42 करोड रुपए सम्मान राशि के रुप में दिए गए। कुस्ती एवं बैंडमिंटन को गोद ले कर आगे बढाया जायेगा। खेल में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले प्रदेश के खिलाडियों को लक्षमण पुरस्कार एवं रानी लक्ष्मी बाई पुरस्कार, मेरठ में मेजर ध्यान चन्द्र खेल विश्वविद्यालय के स्थापना का निर्णय लिया गया है, कामन वेल्थ, एशियन गेम्स एवं आईसीसी महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप में पदक प्राप्त करने वाले खिलाडियों को नकद पुरस्कार देने का कार्य किया गया। खेल किट हेतु धनराशि 01 हजार को बढा कर 2500 की गयी। साथ ही खेलो इंडिया योजना के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में खेल अवस्थापना सुविधाओं का विकास भी किया जा रहा है।

हर घर बिजली

हर गांव हर मजरे हर घर तक बिजली पहुंचाने का कार्य किए जाने के साथ ही जिला तहसील मुख्यालय सहित ग्रामीण अंचलो में निर्धारित रोस्टर अनुसार बिजली पहुॅचाने का कार्य किया गया। सौभाग्य योजना के तहत 01 करोड 41 लाख घरो को निशुल्क विद्युत कनेक्शन, विद्युत उत्पादन क्षमता 28422 मेगा वाट ही जो पूर्व से 6 हजार मेगा वाट अधिक है। किसानो और गरीबों को सस्ती बिजली देने के लिए 12500 करोड रुपए की सलाना सब्सिडी, बुन्देलखण्ड में किसानो को बिजली बिल के फिक्स चार्ज में 50 प्रतिरूात से 75 प्रतिशत की छूट दी गयी। नई सौर ऊर्जा नीति के अन्तर्गत 1535 मेगावाट के 7500 करोड रुपए के प्रस्ताव स्वीकृत हुई। सौर ऊर्जा उत्पादन अब 1350 मेगावाट हुआ है।

स्वच्छ भारत मिशन

2.61 करोड शौचालयो का निर्माण करा कर 10 करोड लोगो को लाभान्वित किया गया। 58758 सामुदायिक शौचालयो का निर्माण महिलाओं एवं बालिकाओं के लिए 4500 पिंक टायलेट निर्मित किए गए ।

एक्सप्रेस प्रदेश

5 इंटरनेशन एपरपोर्ट, 8 एयरपोर्ट संचालित, 13 अन्य एयरपोर्ट एवं 7 हवाई पट्टी का विकास, 341 किलोमीटर लम्बे पूर्वान्चल एक्सप्रेसवे का निर्माण किया गया। 297 किलोमीटर लम्बे बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य पगति पर है। 594 किलोमीटर लम्बे गंगा एक्सप्रेसवे के भूमि अधिग्रहण, गोरखपुर एक्सप्रेसवे का कार्य प्रगति पर, बलिया लिंक एक्सप्रेसवे को मंजूरी दी गयी है। 14471 किलोमीटर सडको का चौडीकरण/सुदृढीकरण 349274 किलोमीटर सडको का गढ्डा मुक्तिकरण तथा 15246 किलोमीटर नई सडको व 925 छोटे पुलो का निर्माण किया गया। आस्था का सम्मान, चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव का आयोजन, अयोध्या के भव्य दीपोत्सव का आयोजन किया गया जो विश्व कीर्तिमान बना।

मिशन रोजगार युवाओं का अवसर

4.50 युवाओं को सरकारी नौकरी, 3.50 लाख युवाओं की संविदा पर सरकारी नियुक्ति, 82 लाख एमएसएमई इकाईयो ंको 2.16 हजार करोड ऋण वितरित कर लगभग 2 करोड लोगो को रोजगार, एक जनपद एक उत्पाद योजना में 25 लाख लोगो को रोजगार, डी औद्योगिक इकाईयों में 3 लाख से अधिक लोगो को रोजगार, स्टार्टअप नीति के अन्तर्गत 5 लाख युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के साथ ही अन्य राज्यों से अपने प्रदेश वापस आये 40 लाख से श्रमिक/कामगारो को रोजगार उपलब्ध कराया गया। 1.50 करोड से अधिक श्रमिको को मनरेगा में रोजगार, 55964 महिलाये बैंक सखी के रुप में चयनित की गयी। 10 लाख स्वयं सहायता समूह के माध्यम से 01 करोड महिलाओं को रोजगार का अवसर उपलब्ध कराया गया।

हर बेघर को घर

प्रधानमंत्री आवास योजना में 42 लाख से अधिक आवासो का निर्माण, मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण में 108495 आवासो का निर्माण, मुसहर बर्ग, वनटागिया वर्ग व कुष्ट रोग से प्रभावित परिवारो को 50602 आवास निर्मित किए गए। वनटागियां गांव को राजस्व ग्राम का दर्जा के साथ उसमें बुनियादी सुविधाओं का विकास किया गया। वरासत अभियान के तहत जमीन से जुडे 13 लाख 52 हजार 210 से अधिक मामलो का निस्तारण किया गया। राज्य सरकार के वित्त पोषण से स्मार्ट सिटी बनाने का निर्णय लिया गया। अमृत योजना के तहत 60 शहरो में पेय जल नाली व शिविरों आदि का कार्य कराया गया। 11913 नगर निकायों में डोर टू डोर कूडा कनेक्शन का कार्य भी किया जा रहा है।

एक जिला एक मेडिकल कालेज

59 जनपदों में न्यूनतम एक मेडिकल कालेज क्रियाशील है। 16 जनपदों में पीपीपी माडल पर मेडिकल कालेज का स्थापना प्रक्रिया प्रारम्भ, गोरखपुर व रायबरेली में एम्स का संचालन किया गया। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में 6 करोड 47 लाख लोगो का बीमा कवर, 42.19 लाख लोगो को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में बीमा कवर किया गया।

मुफ़्त टीका मुफ़्त इलाज

9 करोड से अधिक लोगो का टीकाकरण करने, प्रतिदिन 2.75 लाख कोरोना जांच करने वाला यह पहला राज्य है। कोरोना से निराश्रित हुए बच्चो के लिए उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना लागू की गयी। 4 हजार प्रतिमाह भरण पोषण भत्ता एवं अन्य सुविधायें इसके तहत दी जाती है।

हर खेत को पानी हर घर में नल

3.77 लाख हेक्टेयर बढोतरी की गयी। हर घर नल योजना के तहत 30 हजार ग्राम पंचायतो में शुद्ध पेयजल की योजना क्रियान्वित की गयी। 523 तटबंधो पर बाढ सुरक्षात्मक कार्य पूर्ण किया गया। 4 लाख 24 हजार 627 निशुल्क बोरिंग, 4032 गहरी बोरिंग, 13299 मध्यम गहरी बोरिंग से भी सिंचन क्षमता में वृद्धि की गयी। सभी जनपदो में अटल भू जल योजना लागू एवं 20177 सोलर पम्प की स्थापना की गयी।

हर जरुरतमंद की मदद

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में 15 करोड लोगो को मुक्त राशन, 23 लाख श्रमिको को भरणपोषण हेतु 01 हजार प्रति श्रामिक रुपये 230 करोड की धनराशि दी गयी है। राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी पूरे प्रदेश में लागू की गयी है।

भरपूर फसल बाजिब दाम खुशहाल किसान

क्ृषि निवेशो पर 2151.30 करोड अनुदान राशि किसानो के खाते में स्थानान्तरित, मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना हेतु रुपए 500 करोड का प्राविधान, पट्ेदार, बटाईदारो को भी इससे मिलेगा लाभ। 2 करोड 3 लाख किसान क्रेडिट कार्ड वितरित किए गए।

मिशन किसान कल्याण

86 लाख किसानो के रुपए 36 हजार रुपए के ऋण माफ किए गए। गन्ना किसानो को 1.43 लाख करोड से अधिक गन्ना मूल्य का भुगतान, 476 लाख मैट्रिक टन चीनी का रिकार्ड उत्पादन, 435 लाख मिट्रिक टन खाद्यान्न की सरकारी खरीद, किसानो को 79 हजार करोड का भुगतान, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में 2.50 करोड किसानो में 32572 करोड स्थानान्तरित किया गया। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में 2613 करोड की क्षतिपूर्ति, किसानो को 4 लाख 72 हजार करोड फसली ऋण का भुगतान किया गया।

जनपद में प्रमुख अवस्थापना के कार्य

जनपद में इन अवधियों में अब तक 551.17 किलोमीटर नई सडक का निर्माण 227.10 करोड से कराया गया। ओडीआर/एमडीआर/राज्य मार्गो का अनुरक्षण लम्बाई 434.09 किलोमीटर लागत 32.99 करोड से अनुरक्षण कार्य कराया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत 25796 आवासो के सापेक्ष 16574 आवास पूर्ण कर लिए गए है। 28 अस्थायी गौआश्रय केन्द्र 02 वृहद गौसंरक्षण केन्द्र स्थापित किए गए है, जिसमें 2292 गौवंश संरक्षित किए गए है। आयुष्मान भारत योजना के तहत 74500, मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत 4550 गोल्डेन कार्ड बनाए जा चुके है।

    मनरेगा के तहत अब तक कुल 37681.65 लाख व्यय कर 164692 परिवारों को रोजगार उपलब्ध कराते हुए 14673379 मानव दिवस सृजित किया गया है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत 9263 स्वयं सहायता समूह गठित किए गए है। दीन दयाल अन्त्योदय योजना राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत 270 लाभार्थियों को बैंक ऋण रोजगार सृजन के लिए उपलब्ध कराए गए। 481 पंचायत भवनो का निर्माण, 31 अन्त्येष्टी स्थल निर्मित कराए गए है।

1121 सामुदायिक शौचालय लागत 3675.75 लाख की लागत से करायी गयी है। प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना के तहत 465373 कृषकों के खाते में 930.72 करोड 6 किश्त की धनराशि 02 हजार की दर से डीबीटी के माध्यम से उनके खाते में भेजी गयी है। 163325 कृषकों को कृषि यंत्रो बीज आदि की 25.50 करोड की धनराशि स्थानान्तरित की गयी है। फसली ऋण मोचन के तहत 49154 कृषकों के खाते में 201.28 करोड रुपए की धनराशि भेजी गयी। इसी प्रकार प्रदेश एवं जनपद स्तर पर अन्य संचालित योजनाओं की महत्वपूर्ण उपलब्धियों आदि को उन्होने गिनाया।

प्रेस वार्ता के दौरान प्रभारी मंत्री सहित अन्य अतिथियों द्वारा ‘‘विकास की लहर हर गांव हर शहर’’ फोल्डर का विमोचन भी किया गया। प्रभारी मंत्री सहित अन्य अतिथियो का स्वागत पुष्पगुच्छ प्रदान कर डीएम, एसपी आदि के द्वारा किया गया।

आयोजित इस प्रेस वार्ता में सलेमपुर सांसद रविन्दर कुशवाहा, सदर विधायक डा सत्य प्रकाश मणि त्रिपाठी, बरहज विधायक सुरेश तिवारी, रामपुर कारखाना विधायक कमलेश शुक्ला, सलेमपुर विधायक काली प्रसाद, जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन, पुलिस अधीक्षक डा श्रीपति मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, सीएमओ डा आलोक पाण्डेय, डीडीओ श्रवण कुमार राय, भाजपा से अजय शाही, अजय दूबे, अम्बिकेश पाण्डेय, सत्येन्द्र मणि, प्रमोद शाही, आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 7080822042
Translate »