Top1 india news

No. 1 News Portal of India

पुलिस टीम से ग्रामीणों की मारपीट का मामले मे नेतवार गांव के उठाए गए 26 ग्रामीणों को पुलिस ने छोड़ा

1 min read

रिपोर्ट – मो सद्दाम हुसैन

देवरिया: जिले के मदनपुर थाना क्षेत्र के नेतवार गांव में पुलिस से विवाद के बाद देर रात में घर में छापेमारी कर पकड़े गए सभी 26 युवकों को मदनपुर पुलिस ने छोड़ दिया है। पुलिस मामले की विवेचना में दोषी मिलने वालों पर ही अब कार्रवाई करेगी। मामले को गंभीरता से लेते हुए एसपी डॉ. श्रीपति मिश्र ने रविवार की रात मदनपुर थाने पर पहुंच कर घटना के बारे में पूछताछ की। गांव में पुलिस की कार्रवाई को लेकर एसपी काफी सख्त दिखे। मामले की जांच एएसपी को सौंपी गई है।
*दोषी मिलने वाले पुलिसकर्मियों पर हो सकती है कार्रवाई।*
मदनपुर थाना क्षेत्र के नेतवार गांव में शनिवार की रात सादी वर्दी में कार से जा रहे चार पुलिसकर्मियों की कुछ मनबढ़ों से मारपीट हो गई थी। इस दौरान मनबढ़ों ने दो पुलिसकर्मियों को बेरहमी से पीटने के साथ ही कार भी तोड़ दी थी। इस घटना के बाद पुलिस ने आपा खो दिया। आधी रात रुद्रपुर कोतवाली, एकौना, गौरी बाजार और मदनपुर थाने से काफी संख्या में पुलिसकर्मी नेतवार गांव पहुंचे और जमकर तांडव मचाया। इस दौरान जो जैसे था उसे उसी हालत में पुलिस ने हिरासत में ले लिया। कुल 26 लोग थाने लाए गए। घटना की जानकारी होने के बाद एसपी ने रविवार को एएसपी शिष्यपाल को जांच सौंप दी। देर रात को एसपी डॉ.श्रीपति मिश्र भी मदनपुर थाने पर पहुंचे। जहां उन्होंने घटना में थानेदार से सवाल-जवाब किया। मिली जानकारी के अनुसार पूरी घटना को लेकर एसपी काफी सख्त नजर आए। उन्होंने घटना में दोषी मिलने पर पुलिस कर्मियों पर भी कार्रवाई की चेतावनी दिया। घटना के बाद पुलिस की किरकिरी होने पर हिरासत में लिए गए सभी 26 लोगों को रात में ही छोड़ दिया गया। युवकों के छोड़े जाने के बाद परिवार के लोगों ने राहत की सांस ली।
*इनके खिलाफ दर्ज हुआ है केस*
पुलिस से विवाद के मामले में मदनपुर पुलिस ने अनुज, लल्ला, सुमित, अमरनाथ पाण्डेय, भरथ गोड़, चन्द्र प्रकाश पाण्डेय के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया है। इसके अलावा 15 अज्ञात हैं।
*ग्रामीणों को छोड़े जाने से गांव में लौटी रौनक*
विवाद के बाद नेतवार गांव के पुरुष घर छोड़ कर फरार हो गए थे। जिससे गांव में दहशत का माहौल था। देर रात हिरासत में लिए गए युवकों को छोड़ दिए जाने के बाद गांव में रौनक लौट आई। सोमवार को ग्रामीण रिश्तेदार भी नेतवार पहुंच कर उनका हालचाल लेते रहे।
*तो प्रधान के यहां दावत में जा रहे थे पुलिसकर्मी*
सूत्रों की मानें तो कार सवार पुलिस कर्मी कहीं ड्यूटी पर नहीं बल्कि क्षेत्र के एक ग्राम प्रधान के घर दावत में जा रहे थे। दावत में कुछ पुलिस कर्मी पहले से ही पहुंचे थे। पुलिस ने एक व्यक्ति की कार मांगा था। उसी कार में सवार होकर सभी लोग जा रहे थे। विवाद में लोगों ने कार को क्षतिग्रस्त कर दिया था। गाड़ी किसी विजय गोस्वामी की बताई जा रही है।
*अब विवेचना के बाद ही होगी मामले में कोई गिरफ्तारी*
मनबढ़ों की मारपीट से घायल हेडकांस्टेबल शिवशंकर सिंह यादव की स्थिति गंभीर बनी हुई है। उनका इलाज गोरखपुर में चल रहा है। इस मामले में पुलिस ने गांव के 26 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। एसपी के पूछताछ के बाद पकड़े गए युवकों ने घटना में शामिल नहीं होने की बात कहीं। जिसके बाद एसपी के निर्देश पर सभी को छोड़ दिया गया। अब मामले में विवेचना में दोषी मिलने वालों की ही गिरफ्तारी की जाएगी। नेतवार घटना की जांच कराई जा रही है। जांच में पुलिस कर्मी दोषी मिले तो उनके विरुद्ध भी कार्रवाई की जाएगी। हिरासत में लिए गए लोगों को छोड़ दिया गया है। विवेचना में दोषी मिलने वालों की गिरफ्तारी की जाएगी।

Top1 India News Deoria Uttar Pradesh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 7080822042
Translate »